<no title>9 अगस्त को ‘विश्व आदिवासी दिवस’ पर अब ‘ऐच्छिक’ की जगह होगा, ‘सार्वजनिक’ अवकाश


9 अगस्त को 'विश्व आदिवासी दिवस' पर अब 'ऐच्छिक'
की जगह होगा, 'सार्वजनिक' अवकाश
कमलनाथ सरकार ने आदिवासियों के हित में लिए,
अनेक जनहितैषी फैसले: शोभा ओझा
भोपाल, 08 अगस्त 2019
मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने आज जारी अपने बयान में कहा कि 9 अगस्त को, विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर, प्रदेश में 'ऐच्छिक' अवकाश की जगह 'सार्वजनिक' अवकाश घोषित कर, मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी ने यह सिद्ध कर दिया है कि प्रदेश में बड़ी संख्या में रह रहे, उसके मूल निवासियों को, उनका वास्तविक सम्मान और हक दिलाने के लिए कांग्रेस सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है, यहां यह भी आश्चर्यजनक है कि हमेशा आदिवासी सम्मान और उत्थान की बड़ी-बड़ी बातें करने वाली पूर्ववर्ती भाजपा सरकार, अपने डेढ़ दशक के शासन काल के बाद भी आदिवासी सम्मान और उत्थान से जुडे़ फैसलों को लेने में नाकाम रही।
आज जारी अपने बयान में उपरोक्त विचार व्यक्त करते हुए श्रीमती ओझा ने कहा कि आदिवासी सम्मान से जुडे़ उपरोक्त फैसले के अतिरिक्त प्रदेश की लोकप्रिय कमलनाथ सरकार ने यह फैसला लिया है कि विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर प्रदेश में आदिवासियों के चैमुखी विकास के लिए वित्तीय समावेशन और साक्षरता अभियान का भी शुभारंभ किया जाएगा। इस अभियान में आदिवासीजनों की अधिक से अधिक भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए आदिमजाति कल्याण विभाग के साथ ही वन मंत्रालय एवं पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग की टीमें भी परस्पर समन्वय से काम करेंगी।
  श्रीमती ओझा ने कहा कि यही नहीं, इस अवसर पर मुख्यमंत्री कमलनाथ जी छिंदवाड़ा और झाबुआ में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रमों में भी शामिल होंगे। इन कार्यक्रमों में उत्कृष्ट लोक नर्तक दलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जायेंगे, साथ ही आदिवासी कल्याण के लिए प्रदेश भर में चलाये जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी भी दी जायेगी। इस अवसर पर एक सामूहिक भोज का भी आयोजन किया गया है।
श्रीमती ओझा ने आगे बताया कि उपरोक्त कार्यक्रमों के अतिरिक्त विश्व आदिवासी दिवस पर, सभी जिला मुख्यालयों और 89 विकासखण्ड मुख्यालयों में आयोजित होने वाले विकास कार्यक्रमों में 10वीं एवं 12वीं कक्षा में प्रावीण्य सूची में स्थान पाने वाले आदिवासी छात्र-छात्राओं को रानी दुर्गावती और शंकर शाह पुरस्कार प्रदान किया जायेगा। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये आदिवासी खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया जायेगा। प्रतिभा योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय स्तर की शैक्षणिक संस्थाओं आई.आई.टी., आई.आई.एम. और एन.एल.यू. में चयनित प्रतिभाशाली आदिवासी छात्र-छात्राओं को लाभान्वित किया जायेगा। इसके अलावा संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में चयनित आदिवासी छात्र-छात्राओं को भी सम्मानित किया जायेगा। जिला एवं विकासखण्ड स्तरीय कार्यक्रमों में दुर्लभ आदिवासी वाद्य यंत्रों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। स्वतंत्रता आंदोलन में जनजाति समुदाय के योगदान पर केन्द्रित भाषण और निबंध प्रतियोगिता भी होगी। 
अपने बयान के अंत में श्रीमती ओझा ने कहा कि आदिवासी अस्मिता, सम्मान और उनके उत्थान को दृष्टिगत् रखते हुए उठाये गये कमलनाथ सरकार के उपरोक्त कदमों से जाहिर है कि प्रदेश का आदिवासी समाज अब और अधिक तेजी से प्रगति की ओर अग्रसर होगा और इस राज्य के विकास में भी उसकी भूमिका और सहभागिता, अब और अधिक महत्वपूर्ण होने जा रही है।


 


Popular posts
उद्घाटन हेतु केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जी को दिया गया निमंत्रण पत्र
Image
Taiwanese Headlightbrands gaining 70% market share in EU and US through smart transformation
Image
25 बार चिदम्बरम को जमानत देने वाले न्यायाधीश की भी जांच होनी चाहिये ये माजरा क्या है.? काँग्रेस द्वारा किया गया विश्व का सबसे बड़ा घोटाला खुलना अभी बाकी है......बहुत बड़े काँग्रेसी और ब्यूरोक्रैट्स पकड़े जायेंगे। इसलिये चिदम्बरम को बार -बार जमानत दी जा रही है।*
विजयादशमी पर होगा कलयुगी प्लास्टिकासुर रूपी रावण का दहन     राज्य मंत्री श्री कंप्यूटर बाबा लगाएंगे आग, कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे शहर कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रमोद टंडन
Image
*अतिरिक्त़ पुलिस महानिदेशक  श्री वरूण कपूर सायबर सुरक्षा में मानद उपाधि प्राप्त़ करने वाले एशिया के पहले पुलिस अधिकारी बने।*
Image