जहां प्रदेश सरकार आपदा प्रभावितों को राहत पहुंचाने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है, वहीं भाजपा नेताओं में मची है, एक-दूसरे को नीचा दिखाने की होड़ : शोभा ओझा*

*अतिवृष्टि को लेकर कांग्रेस को घेरने चली भाजपा, आपसी सिरफुटौव्वल के कारण अपने प्रदर्शन की तारीख तक तय नही कर पा रही*


*जहां प्रदेश सरकार आपदा प्रभावितों को राहत पहुंचाने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है, वहीं भाजपा नेताओं में मची है, एक-दूसरे को नीचा दिखाने की होड़ : शोभा ओझा*


मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने आज जारी अपने बयान में कहा कि प्रदेश भाजपा के नेताओं में, नेतृत्व व एक-दूसरे को नीचा दिखाने की होड़ अपने चरम पर पहुंच चुकी है, जिसके चलते पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान, भाजपा संगठन और प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के निर्देशों की साफ अवहेलना करते हुए, बाढ़ को लेकर, सरकार के प्रति समानांतर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदेश भाजपा संगठन ने जहां अपने प्रदर्शन की तारीख 20 सितंबर तय की है, वहीं शिवराज सिंह चौहान का व्यक्तिगत प्रदर्शन 22 सितंबर को रखा गया है, यह जनता के प्रति शिवराज की चिंता को कम, उनकी व्यक्तिगत महात्वाकांक्षा, बेचैनी व छटपटाहट को अधिक दर्शा रहा है।


आज जारी अपने वक्तव्य में उपरोक्त विचार व्यक्त करते हुए श्रीमती शोभा ओझा ने कहा कि पिछले दिसंबर में हुए विधानसभा चुनावों में, भाजपा की पराजय के बाद, उसके नेताओं के पास कोई काम नहीं बचा है और नेतृत्व को लेकर उनमें एक प्रतिस्पर्धा चल रही है, जो काफी आक्रामक हो गई है, शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा, गोपाल भार्गव, नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रभात झा जैसे नेता अपना वर्चस्व दिखाने के लिए समय-समय पर अपनी गतिविधियों और उलजलूल बयानों के द्वारा लगातार प्रदेश संगठन और उसके अध्यक्ष राकेश सिंह के निर्देशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। 


श्रीमती ओझा ने कहा कि भाजपा नेताओं की आपसी सिर फुटौव्वल का आलम यह है कि प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह द्वारा सरकार के विरूद्ध प्रदर्शन के लिए जो अधिकृत तिथि 20 सितंबर जारी की गई है, उसकी पूरी तरह से अवहेलना करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने, अपने व्यक्तिगत विरोध प्रदर्शन की तिथि 22 सितंबर तय कर दी है, जिससे साफ नजर आता है कि भाजपा का संगठन और नेतृत्व कितना लचर और कमजोर हो चुका है।


अपने बयान के अंत में श्रीमती ओझा ने कहा कि अतिवृष्टि जैसी प्राकृतिक आपदा के संकट से जूझ रहे प्रदेश में, जब सरकार ने प्रभावितों को राहत पहुंचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रखा है, तब शिवराज सिंह व अन्य भाजपा नेताओं की अवसरवादी राजनीति को प्रदेश की जनता बड़े आश्चर्य से देखते हुए यह सोच रही है कि पिछले 15 वर्षों तक, जब प्रदेश के किसानों और नागरिकों पर तरह-तरह के संकट मंडरा रहे थे, जनता त्राहि-त्राहि कर रही थी, तब भाजपा के इन नेताओं की मुस्तैदी कहां चली गई थी!


Popular posts
उद्घाटन हेतु केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जी को दिया गया निमंत्रण पत्र
Image
Taiwanese Headlightbrands gaining 70% market share in EU and US through smart transformation
Image
25 बार चिदम्बरम को जमानत देने वाले न्यायाधीश की भी जांच होनी चाहिये ये माजरा क्या है.? काँग्रेस द्वारा किया गया विश्व का सबसे बड़ा घोटाला खुलना अभी बाकी है......बहुत बड़े काँग्रेसी और ब्यूरोक्रैट्स पकड़े जायेंगे। इसलिये चिदम्बरम को बार -बार जमानत दी जा रही है।*
विजयादशमी पर होगा कलयुगी प्लास्टिकासुर रूपी रावण का दहन     राज्य मंत्री श्री कंप्यूटर बाबा लगाएंगे आग, कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे शहर कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रमोद टंडन
Image
*अतिरिक्त़ पुलिस महानिदेशक  श्री वरूण कपूर सायबर सुरक्षा में मानद उपाधि प्राप्त़ करने वाले एशिया के पहले पुलिस अधिकारी बने।*
Image