<no title>

रजिस्ट्रार विभाग में हड़कंप..


क्राइम ब्रांच ने मांगी सर्विस प्रोवाइडर की सूची.


इंदौर । कमलनाथ सरकार ने हर विभाग के माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही में जूट गई है। अब पंजीयन विभाग को निशाने पर लिया है। 
आज अचानक पुलिस विभाग की विंग क्राइम ब्रांच ने रजिस्ट्रार विभाग में धावा बोला। रजिस्ट्रार से इंदौर के सभी सर्विस प्रोवाइडर की जानकारी मांगी और उसका डेटा अपने स्तर पर निकल रही है। यह कार्यवाही पूरे प्रदेश में कई जा रही है। ध्यान रहे कि पंजीयन विभाग प्रशासन को बड़ा राजस्व देने वाला विभाग है। इस विभाग में भी जमकर भ्रष्ट्राचार होता है। भू माफियाओ को यही से गलत दस्तावेज बनाने में मदद मिलती है। बताया जा रहा है कि करीब 20 - 25  ऐसे सर्विस प्रोवाइडर है जो भू माफियाओं के फ़र्जी दस्तावेज बनाने में सहायक बने या शामिल हैं। 
आज क्राइम ब्रांच ने पंजीकृत सर्विस प्रोवाइडर की सूची ली है और बाकी जानकारी गोपनीय स्तर पर एकत्र की जा चुकी है। अब रजिस्ट्रार विभाग के माफियाओं पर सरकार क़्क़ कार्यवाही तय है।


Popular posts
Taiwanese Headlightbrands gaining 70% market share in EU and US through smart transformation
Image
उद्घाटन हेतु केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जी को दिया गया निमंत्रण पत्र
Image
*पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह का बड़ा एलान, रात में पुलिस छोड़ेगी महिलाओं को घरl*
*इंदौर कलेक्टर लोकेश जाटव सिटी बस में यात्रा करके पहुंचे अपने कार्यालय l*
Image
25 बार चिदम्बरम को जमानत देने वाले न्यायाधीश की भी जांच होनी चाहिये ये माजरा क्या है.? काँग्रेस द्वारा किया गया विश्व का सबसे बड़ा घोटाला खुलना अभी बाकी है......बहुत बड़े काँग्रेसी और ब्यूरोक्रैट्स पकड़े जायेंगे। इसलिये चिदम्बरम को बार -बार जमानत दी जा रही है।*